छत्तीसगढ़

5 हजार के खिलाफ केस-19 नामजद, हल्द्वानी हिंसा में 4 गिरफ्तार; उपद्रवियों की पहचान को यह ऐक्शन प्लान…

हल्द्वानी के  वनभूलपुरा में गुरुवार को अतिक्रमण के खिलाफ कार्रवाई के दौरान बवाल और उपद्रव करने वाले हजारों लोगों के खिलाफ पुलिस ने रिपोर्ट दर्ज कर उनकी धरपकड़ शुरू कर दी है।

अभी तक पुलिस चार लोगों को हिरासत में ले चुकी है।

वहीं सैकड़ों उपद्रवियों को चिह्नित कर उनकी तलाश शुरू कर दी है। साथ ही वनभूलपुरा में फोर्स बढ़ाकर सख्ती को कड़ा कर दिया गया है।

अतिरिक्त फोर्स को भी बुला लिया गया है। मलिक के बगीचे में नजूल भूमि पर बने मदरसा और धार्मिक स्थल को तोड़ने के दौरान वनभूलपुरा में गुरुवार को भारी उपद्रव हुआ।

 उपद्रवियों ने पथराव के साथ ही पेट्रोल बम और कांच की बोतलों से सुरक्षा बलों पर हमला किया। इसके बाद वनभूलपुरा थाने में भी आग लगा दी गई।

वनभूलपुरा में तैनात की गई हजारों की फोर्स किसी तरह जान बचाकर बाहर निकली। उपद्रव में करीब 300 लोग घायल भी हुए। 

कानून व्यवस्था की धज्जियां उड़ाने वाले और शहर को आगजनी व तोड़फोड़ के हवाले करने वालों के खिलाफ वनभूलपुरा थाने में तीन अलग-अलग मुकदमे दर्ज किए गए हैं। 

इसमें एक मुकदमा वनभूलपुरा पुलिस, दूसरा नगर निगम और तीसरा मुखानी पुलिस की ओर से दर्ज कराया गया है। 

एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि तीनों मुकदमों में 19 लोगों को नामजद किया गया है। वहीं करीब 5000 अज्ञात लोगों को भी शामिल किया गया है।

शहरभर में भारी पुलिस बल तैनात किया गया है। शुक्रवार को कुछ भी अप्रिय घटना नहीं दर्ज की है।

इन सभी पर दंगा, तोड़फोड़, हत्या का प्रयास, सरकारी व सार्वजनिक संपत्ति को क्षतिग्रस्त करने और सरकारी कार्य में बाधा डालने सहित कई अन्य धाराएं लगाई गई हैं। इसके साथ ही चार लोगों को पुलिस ने हिरासत में लेकर पूछताछ भी शुरू कर दी है।

सीसीटीवी फुटेज और मोबाइल वीडियो से चिह्नित किए जा रहे उपद्रवी
शहर को दंगे की तरफ धकेलकर उपद्रव कर दहशत फैलाने वालों ने अपने चहरों को ढक रखा था। इसके साथ ही वनभूलपुरा क्षेत्र में कई स्थानों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को भी क्षतिग्रस्त कर दिया।

वहीं पुलिस ने सीसीटीवी कैमरों की फुटेज और पथराव के दौरान हुई तमाम वीडियो रिकॉर्डिंग को खंगालना शुरू कर दिया है

इसके आधार पर अभी तक करीब 100 से ज्यादा उपद्रवी चिह्नित कर लिए गए हैं। उनकी गिरफ्तारी के लिए पुलिस ने तलाश शुरू कर दी है।

कुछ लोगों ने जानबूझकर भड़काया बवाल
एसएसपी प्रह्लाद नारायण मीणा ने बताया कि उग्रभीड़ को भड़काया भी गया था। शुरुआती जांच में यह बात सामने आई है।

बताया कि कुछ लोगों ने जानबूझकर शहर में माहौल बिगाड़ने की कोशिश की थी। यही वजह रही कि अचानक इतना बवाल फैला और बढ़ गया।

मामले की गंभीरता से जांच के साथ साथ उपद्रवियों की पहचान की जा रही है। उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था से खिलवाड़ करने वालों को किसी भी कीमत पर बख्शा नहीं जाएगा।

हालात नियंत्रण में हैं। पूरे शहर में फोर्स को अलर्ट कर दिया गया है।

हमारे पास पर्याप्त फोर्स मौजूद है। मुकदमा दर्ज कर उपद्रवियों को पकड़कर उनके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। टीमें लगी हैं, चिह्नित कर आरोपियों की गिरफ्तारी की जाएगी।
प्रह्लाद नारायण मीणा, एसएसपी नैनीताल

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button